Home All Subjects General Science Physics Handwritten Notes PDF In Hindi For All Competitive Exams

Physics Handwritten Notes PDF In Hindi For All Competitive Exams

0
60
Physics Handwritten Notes PDF In Hindi For All Competitive Exams

Physics Handwritten Notes PDF In Hindi For All Competitive Exams

Today, we are sharing a Physics Handwritten Notes PDF in Hindi. This is very useful for the upcoming competitive exams like SSC CGL, BANK, RAILWAYS,  RRB NTPC, LIC AAO, and many other exams. Most Important Physics Handwritten Notes For SSC is very important for any competitive exam and this Physics Handwritten Notes PDF in Hindi is very useful for it. this FREE PDF will be very helpful for your examination.

Gktrick.in is an online Educational Platform, where you can download free PDF for UPSC, SSC CGL, BANK, RAILWAYS,  RRB NTPC, LIC AAO, and many other exams.

There are around 20-25 questions in each Government Exams related to Physics Handwritten Notes PDF in Hindi and you can solve 18-20 questions out of them very easily by reading these Notes of Physics Handwritten Notes PDF in Hindi. The complete PDF of Science GK In Hindi Objective Question is attached below for your reference, which you can download by clicking at the Download Button. If you have any doubt or suggestion regarding the PDF then you can tell us in the Comment Section given below, we will be happy to help you. We wish you a better future.

 

DOWNLOAD MORE PDF

Maths NotesCLICK HERE
English NotesCLICK HERE
Reasoning NotesCLICK HERE
Indian Polity NotesCLICK HERE
General KnowledgeCLICK HERE
General Science Notes
CLICK HERE

 Topics Include in Physics Notes PDF in Hindi

1.भौतिक विज्ञान (Physics)

  1. भौतिक राशियाँ (Physical Quantities)
  2. S.I. पद्धति (System International) – 1960
  3. सम्पूरक मात्रक (Supplement Units)
  4. कार्य शक्ति एवं उर्जा (Work, Power and Energy)
  5. पदार्थ के गुण (Properties of Matter)
  6. उर्जा का रूपान्तरण (Transformation Of Energy)
  7. महत्वपूर्ण तथ्य (Some Important Facts)
  8. प्रकाश (Light)
  9. सौरमंडल का चार्ट

 



Important GK Question set

  • डेसीबल किसे नापने के लिए प्रयोग में लाया जाता है – वातावरण में ध्‍वनि
  • ऐम्पियर क्‍या नापने की इकाई है – करेन्‍ट
  • यंग प्रत्‍यास्‍थता गुणांक का SI मात्रक है – न्‍यूटन/वर्ग मीटर
  • मात्रकों की अन्‍तर्राष्‍ट्रीय पद्धति कब लागू की गई – 1971 ई.
  • खाद्य ऊर्जा को हम किस इकाई में माप सकते हैं – कैलोरी
  • विद्युत मात्रा की इकाई है – ऐम्पियर
  • SI पद्धति में लैंस की शक्ति की इकाई क्‍या है – डायोप्‍टर
  • कैण्‍डेला मात्रक है – ज्‍योति तीव्रता
  • जूल इकाई है – ऊर्जा
  • ल्‍यूमेन किसका मात्रक है – ज्‍योति फ्लक्‍स का
  • ‘क्‍यूरी’ (Curie) किसकी इकाई का नाम है – रेडियोएक्टिव धर्मिता
  • दाब का मात्रक है – पास्‍कल
  • कार्य का मात्रक है – जूल
  • प्रकाश वर्ष इकाई है – दूरी की
  • जड़त्‍व का माप क्‍या है – द्रव्‍यमान
  • एंगस्‍ट्राम क्‍या मापता है – तरंगदैर्ध्‍य
  • किसने न्‍यूटन से पूर्व ही बता दिया था कि सभी वस्‍तुएँ पृथ्‍वी की ओर गुरूत्‍वाकर्षण होती है – ब्रह्मगुप्‍त
  • यदि एक पेंडुलम से दोलन करने वाली घड़ी को पृथ्‍वी से चन्‍द्रमा पर ले जाएँ, तो घड़ी होगी – सुस्‍त
  • प्रकाश वोल्‍टीय सेल के प्रयोग से सौर ऊर्जा का रूपान्‍तरण करने से किसका उत्‍पादन होता है – प्रकाशीय ऊर्जा
  • जब हम रबड़ के गद्दे वाली सीट पर बैठते हैं या गद्दे पर लेटते हैं तो उसका आकार परिवर्तित जाता है। ऐसे पदार्थ में पायी जाती है – स्थितिज ऊर्जा
  • उत्‍पलावकता से सम्‍बन्धित वैज्ञानिक है – आर्किमिडीज
  • द्रव में आंशिक या पूर्णत: डूबे हुए किसी ठोस द्वारा प्राप्‍त उछाल की मात्रा निर्भर करती है – ठोस द्वारा हटाये गए द्रव की मात्रा पर
  • जल पृष्‍ठ पर लोहे के टुकड़े के न तैरने का कारण है – लोहे द्वारा विस्‍थापित जल का भार लोहे के भार से कम होता है।
  • वेग, संवेग और कोणीय वेग कैसी राशि है – सदिश राशि
  • अदिश राशि है – ऊर्जा
  • बल गुणनफल है – द्रव्‍यमान और त्‍वरण का
  • जब कोई व्‍यक्ति चन्‍द्रमा पर उतरता है तो उसके शरीर में उपस्थित – भार घट जाता है तथा मात्रा अपरिवर्तित रहती है
  • किसी पिण्‍ड के उस गुणधर्म को क्‍या कहते हैं जिससे वह सीधी रेखा में विराम या एकसमान गति की स्थिति में किसी भी परिवर्तन का विरोध करता है – जड़त्‍व
  • न्‍यूटन के पहले नियम को कहते हैं – जड़त्‍व का नियम
  • पारसेक (Parsec) इकाई है – दूरी की
  • वायुमण्‍डल के बादलों के तैरने का कारण है – घनत्‍व
  • समुद्र में प्‍लवन करते आइसबर्ग का कितना भाग समुद्र की सतह से ऊपर रहता है – 1/10
  • जब कोई नाव नदी से समुद्र में प्रवेश करती है तो – थोड़ी ऊपर की ओर उठ जाती है
  • पानी का घनत्‍व अधिकतम होता है – 4‍ डिग्री सेल्सियस पर
  • वस्‍तु की मात्रा बदलने पर अपरिवर्तित रहेगा – घनत्‍व
  • तैराक को नदी के मुकाबले समुद्री पानी में तैरना आसान क्‍यों लगता है – समुद्री पानी का घनत्‍व साधारण पानी से ज्‍यादा होता है
  • यदि पृथ्‍वी का द्रव्‍यमान वही रहे और त्रिज्‍या 1% कम हो जाए, तब पृथ्‍वी के तल पर ‘g’ का मान – 2% बढ़ जाएगा
  • ऊँचाई की जगहों पर पानी 100 डिग्री सेल्सियस के नीचे के तापमान पर क्‍यों उबलता है – क्‍योंकि वायुमण्‍डलीय दाब कम हो जाता है, अत: उबलने का बिन्‍दु नीचे आ जाता है।
  • कोणीय संवेग एवं रेखीय संवेग के अनुपात की विमा क्‍या होगी – M0L1T0
  • बर्नोली प्रमेय आधारित है – ऊर्जा संरक्षण पर
  • लोहे की सुई पानी की सतह पर तैरती है। इस परिघटना का कारण है – पृष्‍ठ तनाव
  • ब्‍लाटिंग पेपर द्वारा स्‍याही के सोखने में शामिल है – केशिकीय अभिक्रिया परिघटना
  • यदि हम भूमध्‍य रेखा से ध्रुवों की ओर जाते हैं, तो g का मान – बढ़ता है
  • शरीर का वजन – ध्रुवों पर अधिकतम होता है
  • एक अं‍तरिक्ष यात्री पृथ्‍वी तल की तुलना में चन्‍द्र तल पर अधिक ऊँची छलांग लगा सकता है, क्‍योंकि – चन्‍द्र तल पर गुरूत्‍वाकर्षण बल पृथ्‍वी तल की तुलना में अत्‍यल्‍प है 
  • जब एक पत्‍थर को चाँद की सतह से पृथ्‍वी पर लाया जाता है, तो – इसका भार बदल जाएगा, परन्‍तु द्रव्‍यमान नहीं
  • किसी लिफ्ट में बैठे हुए व्‍यक्ति को अपना भार कब अधिक मालूम पड़ता है – जब लिफ्ट त्‍वरित गति से ऊपर जा रही हो
  • एक व्‍यक्ति पूर्णत: चि‍कने बर्फ के क्षैतिज समतल के मध्‍य में विराम स्थिति में है। न्‍यूटन के किस/किन नियम/नियमों का उपयोग करके वह अपने आपको तट तक ला सकता है – तीसरा गति नियम
  • 20 किलोग्राम के वजन को जमीन के ऊपर 1 मीटर की ऊँचाई पर पकड़े रखने के लिए किया गया कार्य है – शून्‍य जूल
  • एक व्‍यक्ति एक दीवार को धक्‍का देता है, पर उसे विस्‍थापित करने में असफल रहता है, तो वह करता है – कोई भी कार्य नहीं
  • पहाड़ी पर चढ़ता एक व्‍यक्ति आगे की ओर झुक जाता है, क्‍योंकि – शक्ति संरक्षण हेतु
  • पीसा की ऐतिहासिक मीनार तिरछी होते हुए भी नहीं गिर‍ती है, क्‍योंकि – इसके गुरूत्‍वकेन्‍द्र से जाने वाली ऊर्ध्‍वाधर रेखा आधार से होकर जाती है
  • एक ऊँची इमारत से एक गेंद 9.8 मी/सेकण्‍ड2 के एकसमान त्‍वरण के साथ गिरायी जाती है। 3 सेकण्‍ड के बाद उसका वेग क्‍या होगा – 29.4 मी/से
  • एक वस्‍तु का द्रव्‍यमान 100 किग्रा है (गुरूत्‍वजनित ge = 10ms-1) अगर चन्‍द्रमा पर गुरूत्‍वजनित त्‍वरण ge/6 है तो चन्‍द्रमा में वस्‍तु का द्रव्‍यमान होगा – 100 किग्रा
  • पावर (शक्ति) का SI मात्रक ‘वाट’ (watt) किसके समतुल्‍य है – किग्रा मी -2 से -3
  • भारहीनता की अवस्‍था में एक मोमबत्‍ती की ज्‍वाला का आकार – वही रहेगा
  • एक केशनली में जल की अपेक्षा एक तरल अधिक ऊँचाई तक चढ़ता है, इसका कारण है – तरल का पृष्‍ठ तनाव जल की अपेक्षा अधिक है
  • गुरूत्‍वाकर्षण के सार्वभौमिक नियम का प्रतिपादन किसने किया – न्‍यूटन
  • ऊर्जा संरक्षण का आशय है कि – ऊर्जा का न तो सृजन हो सकता है और न ही विनाश
  • पास्‍कल इकाई है – तापमान की
  • 1 किग्रा/सेमी2 दाब समतुल्‍य है – 0.1 बार के
  • क्‍यूसेक से क्‍या मापा जाता है – जल का बहाव
  • किसी पिण्‍ड का भार – ध्रुवों पर सर्वाधिक होता है
  • एक लिफ्ट में किसी व्‍यक्ति का प्रत्‍यक्ष भार वास्‍तविक भार से कम होता है, जब लिफ्ट जा रही हो – त्‍वरण के साथ नीचे
  • कौन-सी ऊॅंचाई भूस्थिर उपग्रहों की है – 36,000 Km
  • महान् वैज्ञानिक आर्किमिडीज किस देश से सम्‍बन्धित थे – ग्रीस
  • पानी की बूँदों का तैलीय पृष्‍ठों पर न चिपकने का कारण है – आसंजक बल का अभाव
  • तुल्‍यकारी उपग्रह घूमता है, पृथ्‍वी के गिर्द – पश्चिम से पूर्व
  • पहिये में बाल-बियरिंग का कार्य है – स्‍थैतिक घर्षण को गतिज घर्षण में बदलना
  • जल के आयतन में क्‍या परिवर्तन होगा यदि तापमान 90 Cसे गिराकर 30C कर दिया जाता है – आयतन पहले घटेगा और बाद में बढ़ेगा
  • एक झील में तैरने वाली इम्‍पात की नाव के लिए नाव द्वारा विस्‍थापित पानी का भार कितना है – नाव के उस भाग के बराबर जो झील के पानी की सतह के नीचे है
  • किसी कालीन की सफाई के लिए यदि उसे छड़ी से पीटा जाए, तो उसमें कौन-सा नियम लागू हो‍ता है – गति का पहला नियम
  • सड़क पर चलने की अपेक्षा बर्फ पर चलना कठिन है, क्‍योंकि – बर्फ में सड़क की अपेक्षा घर्षण कम होता है
  • लोलक की आवर्त काल (Time Period) – लम्‍बाई के ऊपर निर्भर करता है
  • लोलक घडि़याँ गर्मियों में क्‍यों सुस्‍त हो जाती है – लोलक की लम्‍बाई बढ़ जाती है जिससे इकाई दोलन में लगा हुआ समय बढ़ जाता है
  • किसी सरल लोलक की लम्‍बाई 4% बढ़ा दी जाए तो उसका आवर्तकाल – 2% बढ़ जाएगा
  • यदि लोलक की लम्‍बाई चार गुनी कर दी जाए तो लोलक के झूलने का समय – दोगुना होता है
  • पेंडुलम को चन्‍द्रमा पर ले जाने पर उसकी समयावधि – बढ़ेगी
  • एक कण का द्रव्‍यमान m तथा संवेग p है। इसकी गतिज ऊर्जा होगी – P2/2 m
  • एक भू-उपग्रह अपने कक्ष में निरन्‍तर गति करता है ? यह अपकेन्‍द्र बल के प्रभाव से होता है, जो प्राप्‍त होता है – पृथ्‍वी द्वारा उपग्रह पर लगने वाले गुरूत्‍वाकर्षण से
  • घड़ी के स्प्रिंग में भंडारित ऊर्जा – स्थितिज ऊर्जा
  • कक्षा में अंतरिक्षयान में भारहीनता की अनुभूति का कारण है – कक्षा में त्‍वरण बाहरी गुरूत्‍वाकर्षण के कारण त्‍वरण के बराबर होता है।
  • न्‍यूटन के गति के तीसरे नियम के अनुसार क्रिया तथा प्रतिक्रिया से सम्‍बद्ध बल – हमेशा भिन्‍न-भिन्‍न वस्‍तुओं पर ही लगे होने चाहिए
  • ”प्रत्‍येक क्रिया के बराबर व विपरीत दिशा में एक प्रतिक्रिया होती है।” यह है – न्‍यूटन का गति विषयक तृतीय नियम
  • जल में तैरना न्‍यूटन की गति के किस नियम के कारण सम्‍भव है – तृतीय नियम
  • दलदल में फँसे व्‍यक्ति को लेट जाने की सलाह दी जाती है, क्‍योंकि – क्षेत्रफल अधिक होने से दाब कम हो जाता है
  • बर्फ के दो टुकड़ों को आपस में दबाने पर टुकड़े आपस में चिपक जाते है, क्‍योंकि – दाब अधिक होने से बर्फ का गलनांक घट जाता है
  • पृथ्‍वी के गुरूत्‍वाकर्षण का कितना भाग चन्‍द्रमा के गुरूत्‍वाकर्षण के सबसे नजदीक है – 1/6
  • किसी पिण्‍ड के द्रव्‍यमान तथा भार में अन्‍तर होता है, क्‍योंकि – द्रव्‍यमान स्थिर रहता है, जबकि भार परिवर्तनीय होता है
  • ”किसी भी स्थिर या गतिशील वस्‍तु की स्थिति और दिशा में तब तक कोई परिवर्तन नहीं होता जब तक उस पर कोई बाह्य बल सक्रिय न हो।” यह है – न्‍यूटन का गति विषयक प्रथम नियम
  • कौन-सा नियम इस कथन को वैध ठहराता है कि द्रव्‍य का न तो सृजन किया जा सकता है और न ही विनाश – ऊर्जा संरक्षण का नियम
  • ऑटोमोबाइलों में प्रयुक्‍त द्रवचालित ब्रेक एक प्रत्‍यक्ष अनुप्रयोग है – पास्‍कल के सिद्धान्‍त
  • पदार्थ के संवेग और वेग के अनुपात से कौन-सी भौतिक राशि प्राप्‍त की जाती है – द्रव्‍यमान
  • शून्‍य में स्‍वतंत्र रूप से गिरने वाली वस्‍तुओं की/का – समान त्‍वरण होता है
  • दो वेक्‍टर (Vector) जिनका मान अलग है – उनका परिणामी शून्‍य नहीं हो सकता
  • त्‍वरण ज्ञात करने का सही सूत्र कौन-सा है 
  • रेल की पटरियाँ अपने वक्रों (Curves) पर किस कारण से झुकी (bent) हुई होती है – रेलगाड़ी के भार के क्षैतिज घटक से आवश्‍यक अभिकेन्‍द्रीय बल प्राप्‍त किया जा सकता है
  • साइकिल चलाने वाला मोड़ लेते समय क्‍यों झुकता है – वह झुकता है ताकि गुरूत्‍व केन्‍द्र आधार के अन्‍दर बना रहे, वह उसे गिरने से बचाएगा
  • कोई साइकिल सवार किसी मोड़ में घूमता है, तो वह है – अंदर की ओर झुकता है।
  • क्रीम सेपरेटर में दूध में से वसा को किस कारण से अलग किया जा सकता है – अपकेन्‍द्रीय बल
  • सूर्य पर ऊर्जा का निर्माण होता है – नाभिकीय संलयन द्वारा
  • सूर्य की ऊर्जा उत्‍पन्‍न होती है – नाभिकीय संलयन द्वारा
  • पानी के एक गिलास में एक बर्फ का टुकड़ा तैर रहा है। जब बर्फ पिघलती है तो पानी के स्‍तर पर क्‍या प्रभाव होगा – उतना ही रहेगा
  • पानी से भरी डाट लगी बोतल जमने पर टूट जाएगी क्‍योंकि – जमने पर जल का आयतन बढ़ जाता है
  • लैम्‍प की बत्‍ती में तेल चढ़ता है – कैपिलरी क्रिया के कारण
  • साबुन के बुलबुले के अन्‍दर का दाब – वायुमण्‍डलीय दाब से अधिक होता है
  • जब शुद्ध जल में डिटर्जेंट डाला जाता है, तो पृष्‍ठ तनाव – घट जाता है
  • आर्किमिडीज का नियम किससे समबन्धित है – प्‍लवन का नियम
  • तेल जल के तल पर फैल जाता है, क्‍योंकि – तेल का पृष्‍ठ तनाव जल से कम है
  • द्रव की बूँद की आकृति गोलाकार होने का कारण है – पृष्‍ठ तनाव
  • वर्षा की बूँद गोलाकार होती है – सतही तनाव के कारण
  • एक द्रव बूँद की प्रकृति गोल आकार लेने की होती है, जिसका कारण है – पृष्‍ठ तनाव
  • स्थिर पानी में मिट्टी का तेल डालने पर मच्‍छर कम होते हैं, क्‍योंकि यह – लार्वा के सांस में बाधा डालता है
  • पानी से निकालने पर सेविंग ब्रश के बाल आपस में चिपक जाते है। इसका कारण है – पृष्‍ठ तनाव
  • स्थिर गति से जा रही खुली कार में बैठा एक बालक गेंद को हवा में सीधे ऊपर फेंकता है। गेंद गिरती है – उसके हाथ में
  • जेट इंजन किस सिद्धान्‍त पर कार्य करता है – रैखिक संवेग के संरक्षण का सिद्धान्‍त
  • दूध से मक्‍खन निकाल लेने पर – दूध का घनत्‍व घटता है
  • जब किसी वस्‍तु को पृथ्‍वी से चन्‍द्रमा पर ले जाया जाता है, तो – उसका भार घट जाता है
  • जब एक चल वस्‍तु की गति दोगुनी हो जाती है तो उसकी गतिज ऊर्जा – चौगुनी हो जाती है
  • अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष में सीधे खड़े नहीं रह सकते , क्‍योंकि – वहाँ गुरूत्‍वाबर्षण नहीं होता
  • संवातक कमरे की छत के निकट लगाए जाते हैं, क्‍योंकि – साँस में छोड़ी हुई गरम हवा ऊपर उठती है और वह बाहर चली जाती है
  • हवाई जहाज में फाउन्‍टेन पेन से स्‍याही बाहर निकल आती है, क्‍योंकि – ऊँचाई बढ़ने से वायुदाब में कमी आती है
  • धक्‍का-सह प्राय: स्‍टील के बनाये जाते हैं, क्‍योंकि – उसकी प्रत्‍यास्‍थता अधिक होती है
  • चन्‍द्रमा पर वायुमण्‍डल नहीं है, क्‍योंकि – यह सूर्य से प्रकाश पाता है
  • एक हॉर्स पावर (H.P.) कितने वाट के बराबर होता है – 746 वाट
  • एक कार की गति 36 किमी प्रति घण्‍टा है। इसे मीटर प्रति सेकण्‍ड में व्‍यक्‍त करेंगे – 10 m/s
  • तूफान की भविष्‍यवाणी की जाती है, जब वायुमण्‍डल का दाब – सहसा कम हो जाए
  • अण्‍डा मृदु जल में डूब जाता है, किन्‍तु नमक के सान्‍द्र घोल में तैरता है, क्‍योंकि – नमक के घोल का घनत्‍व अण्‍डे के घनत्‍व से अधिक हो जाता है।
  • किसी व्‍यक्ति को मुक्‍त रूप से घूर्णन कर रहे घूर्णी मंच पर अपनी (को‍णीय) चाल कम करने के लिए क्‍या करना चाहिए – अपने हाथ बाहर की तरफ फैला दें।
  • 54 किमी/घण्‍टा के वेग का मान है – 15 मीटर/सेकेण्‍ड (54 X 1000 मीटर / 3600 सेकेण्‍ड = 15)
  • न्‍यूटन मीटर मात्रक है – ऊर्जा का
  • एक भूस्थिर उपग्रह अपनी कक्षा में निरन्‍तर गति करता है। यह अपकेन्‍द्र बल के प्रभाव से होता है, जो प्राप्‍त होता है – पृ‍थ्‍वी द्वारा उपग्रह पर लगाने वाले गुरूत्‍वाकर्षण से
  • स्‍वचालित कलाई घड़ि‍यों में ऊर्जा मिलती है – बैटरी से
  • जब कुएं से पानी की बाल्‍टी को ऊपर खींचते हैं तो हमें महसूस होता है कि बाल्‍टी – पानी की सतह से ऊपर भारी हो गई है।
  • भारहीनता होती है – गुरूत्‍वाकर्षण की शून्‍य स्थिति
  • एक नदी में चलता हुआ जहाज समुद्र में आता है तब जहाज का स्‍तर – थोड़ा ऊपर आएगा।
  • लोहे की कील पारे में क्‍यों तैरती है, जबकि यह पानी में डूब जाती है – लोहे का घनत्‍व पानी से अधिक है तथा पारे से कम।
  • जब एक ठोस पिण्‍ड को पानी में डुबोया जाता है, तो उसके भार में ह्रास होता है। यह ह्रास कितना होता है – विस्‍थापित पानी के भार के बराबर
  • बर्फ पानी में तैरती है, परन्‍तु ऐल्‍कोहॉल में डूब जाती है, क्‍योंकि – बर्फ पानी से हल्‍की होती है तथा ऐल्‍कोहॉल से भारी होती है।
  • चलती हुई बस जब अचानक ब्रेक लगाती है, तो उसमें बैठे हुए यात्री आगे की दिशा में गिरते हैं। इसको किसके द्वारा समझाया जा सकता है – न्‍यूटन का पहला नियम
  • रॉकेट की कार्य-प्रणाली किस सिद्धान्‍त पर आधारित होती है – संवेग संरक्षण
  • अश्‍व यदि एकाएक चलना प्रारम्‍भ कर दे तो अश्‍वारोही के गिरने की आशंका का कारण है – विश्राम जड़त्‍व
  • क्रिकेट का खिलाड़ी तेजी से आती हुई बॉल को क्‍यों अपने हाथ को पीछे खींचकर पकड़ता है– बॉल विश्राम की स्थिति में आ सकती है।
  • प्रेशर कुकर में खाना जल्‍दी पकता है, क्‍योंकि – इससे पानी का क्‍वथनांक बढ़ जाता है।
  • वायुदाबमापी की रीडिंग में अचानक गिरावट इस बात का संकेत है कि मौसम – तूफानी होगा।
  • हाइड्रोजन से भरा हुआ पॉलिथीन का एक गुब्‍बारा पृथ्‍वी के तल से छोड़ा जाता है। वायुमण्‍डल के ऊँचाई पर जाने से – गुब्‍बारे के आमाप में वृद्धि होगी।
  • एक धावक लम्‍बी छलांग लगाने से पहले कुछ दूरी तक दौड़ता है, क्‍योंकि – छलांग लगाते समय उसके शरीर की गति जड़ता उसको ज्‍यादा दूरी तय करने में मदद करती है।
  • भिन्‍न भिन्‍न द्रव्‍यमान के दो पत्‍थरों को एक भवन के शिखर से एक साथ गिराया जाता है – दोनों पत्‍थर जमीन पर एक साथ पहुँचते हैं।
  • श्‍यानता की इकाई है – प्‍वाइज
  • प्रकाश का रंग निर्धारित होता है, इसकी – तरंगदैर्ध्‍य से
  • पानी में हवा का बुलबुला वैसे ही काम करेगा, जैसे करता है – अवतल लैंस
  • हम पृथ्‍वी के पृष्‍ठ पर सूर्य का प्रकाश प्राप्‍त करते हैं। ये प्रकाश के किस प्रकार के किरणपुंज हैं – समान्‍तर
  • माध्‍यम के तापमान में वृद्धि के साथ प्रकाश की गति – वैसी ही रहती है।
  • प्रकाश छोटे-छोटे कणों से मिलकर बना है, जिसे कहते हैं – फोटॉन
  • प्रकाश तरंग किस प्रकार की तरंग है – अनुप्रस्‍थ तरंग
  • प्रकाश का तरंग सिद्धान्‍त किसके द्वारा प्र‍स्‍थापित किया गया था – हाइगेन्‍स के द्वारा
  • अपवर्तक दूरबीन में क्‍या होता है – असमान फोकस दूरी के दो उत्‍तल लैंस
  • आकाश में नीला रंग प्रकट होने के साथ सम्‍बन्धित प्रकाश की परिघटना है – प्रकीर्णन
  • जब प्रकाश किरण एक माध्‍यम से दूसरे माध्‍यम में जाती है, तो इसकी – आवृत्ति समान बनी रहती है।
  • आकाश का रंग नीला प्रतीत होता है, क्‍योंकि – छोटी तरंगदैर्ध्‍य वाला प्रकाश बड़ी तरंगदेर्ध्‍य वाले प्रकाश की अपेक्षा वायुमण्‍डल में नीला प्रतीत होता है।
  • किस गुणधर्म के कारण पानी से भरे बर्तन में डुबोई गई छड़ी मुड़ी हुई प्रतीत होती है– अपवर्तन
  • पूर्ण आन्‍तरिक परावर्तन होता है, जब प्रकाश जाता है – हीरे से काँच में
  • इन्‍द्रधनुष बनने का कारण है – वायुमण्‍उल में सूर्य की किरणों का जल बूँदों के द्वारा परावर्तन
  • मृगतृष्‍णा (Mirage) उदाहरण है – पूर्ण आन्‍तरिक परावर्तन का
  • प्रकाश में ध्रुवण की घटना से य‍ह सिद्ध होता है कि प्रकाश तरंगें हैं – अनुप्रस्‍थ
  • प्रकाश विकिरण की प्रकृति होती है – तरंग एवं कण दोनों के समान
  • तरण ताल वास्‍तविक गहराई से कम गहरा दिखायी देता है। इसका कारण है – अपवर्तन
  • एक तालाब के किनारे एक मछुआरा मछली को भाले से मारने की कोशिश कर रहा है, तदनुसार उसे निशाना कैसे लगाना चाहिए – जहाँ मछली दिखायी दे उसके ऊपर
  • कपड़ों को धोते समय हम नील का प्रयोग करते हैं, उसकी – सही वर्ण संयोजन के कारण
  • पीले रंग का पूरक रंग है – नीला
  • अन्‍तर्दर्शी (Endoscop) क्‍या है – यह आहारनाल के भीतर देखने के लिए प्रयुक्‍त एक प्रकाशिक यंत्र है
  • मायोपिया से क्‍या तात्‍पर्य है – निकट दृष्टि दोष
  • हाइपरमेट्रोपिया (Hypermetropia) का अर्थ है – दूर दृष्टि दोष
  • एक आदमी 10 मीटर से अधिक दूरी की वस्‍तु स्‍पष्‍ट नहीं देख पाता है। वह किस दृष्टिदोष से पीडि़त है – मायोपिया
  • एक मनुष्‍य 1 मीटर से कम दूरी की वस्‍तु को स्‍पष्‍ट नहीं देख सकता है। वह व्‍यक्ति किस दोष से पीडि़त है – दूर दृष्टि
  • ल्‍यूमेन एकक है – ज्‍योति फ्लक्‍स का
  • दूरबीन (Telescope) क्‍या है – दूर की वस्‍तु देखने का यंत्र
  • सूर्य के प्रकाश को धरती की सतह पर पहुँचने में लगने वाला समय है, लगभग – 8.5 मिनट
  • प्रकाश की गति है – 3 x 108 m/S
  • सूर्य ग्रहण के समय सूर्य का कौन-सा भाग दिखायी देता है – किरीट (कोरोना)
  • पूर्ण सूर्य ग्रहण का अधिकतम समय होता है – 250 सेकण्‍ड
  • सूर्य ग्रहण तब होता है, जब – सूर्य और पृथ्‍वी के बीच चन्‍द्रमा हो
  • प्रकाशिक तन्‍तु के आकार के बावजूद प्रकाश उनमें प्रगामी होता है, क्‍योंकि वह ऐसा यंत्र है जिससे संकेतों को एक जगह से दूसरी जगह स्‍थानांतरित किया जा सकता है। यह किस परिघटना पर आधारित है – प्रकाश का पूर्ण आंतरिक परावर्तन
  • प्रकाश वायु की अपेक्षा काँच में मन्‍द गति से चलता है, क्‍योंकि – वायु का अपवर्तनांक काँच के अपवर्तनांक से कम होता है
  • जब प्रकाश की तरंगें वायु से काँच में होकर गुजरती है, तब कौन से परिवर्त्‍य प्रभावित होंगे – केवल तंरगदैर्ध्‍य तथा वेग
  • जब एक व्‍यक्ति तीव्र प्रकाश क्षेत्र से अंधेरे कमरे में प्रवेश करता है, तो उसे कुछ समय के लिए स्‍पष्‍ट दिखायी नहीं देता है, बाद में धीरे-धीरे उसे चीजें दिखायी देने लगती है। इसका कारण है – आँखों का अन्‍धेरे के प्रति कुछ समय में अनुकूलित होना
  • निकट दृष्टि दोष दूर करने के लिए कौन-सा लैंस उपयोग में लाया जाता है – नतोदर / अवतल (Concave)
  • अवतल लैंस हमेशा किस प्रकार का प्रतिबिम्‍ब बनाते हैं – आभासी प्रतिबिम्‍ब
  • साबुन के पतले झाग में चमकदार रंगों का बना किस परिघटना का परिणाम है – बहुलित परावर्तन और व्‍यतिकरण
  • कार में दृश्‍यावलोकन के लिए किस प्रकार के शीशे का प्रयोग होता है – उत्‍तल दर्पण
  • यदि एक निकट-दृष्टिग्रस्‍त नेत्र का सुदूर बिन्‍दु 200 सेमी है तो लैंस की क्षमता क्‍या है – – 0.5D
  • ENT डॉक्‍टरों द्वारा प्रयोग किया जाने वाला हैड मिरर का प्रकार होता है – अवतल
  • नेत्रदान में दाता की आँख के किस हिस्‍से को प्रतिरोपित किया जाता है – कॉर्निया
  • मनुष्‍य की आँख में प्रकाश तरंगें किस स्‍थान पर स्‍नायु उद्वेगों में परिवर्तित होती हैं – रेटिना से
  • स्‍वस्‍थ नेत्र के लिए स्‍पष्‍ट दृष्टि की न्‍यूनतम दूरी कितनी होती है – 25 सेमी
  • यदि कोई व्‍यक्ति दूर की वस्‍तुओं को स्‍पष्‍ट नहीं देख सकता है तो उसकी दृष्टि में कौन –सा दोष होगा – निकट दृष्टि
  • निकट दृष्टि दोष से पीड़ित व्‍यक्ति को – दूर की वस्‍तुएँ दिखायी नहीं देती हैं
  • निकट दृष्टि दोष से पीड़ित व्‍यक्ति के चश्‍मे में प्रयोग किया जाता है – अवतल लैंस
  • दूर दृष्टि दोष से पीडि़त व्‍यक्ति को – निकट की वस्‍तुएँ दिखायी नहीं देती हैं
  • प्राथमिक रंग है – वे रंग जो अन्‍य रंगों के मिश्रण से उत्‍पन्‍न नहीं किये जा सकते हैं।
  • प्राथमिक रंग कौन-कौन्‍ से हैं – लाल, हरा व नीला
  • पेट अथवा शरीर के अन्‍य आन्‍तरिक अंगों के अन्‍वेषण के लिए प्रयुक्‍त तकनीक एण्‍डोस्‍कोपी (Endoscopy) आधारित है – पूर्ण आन्‍तरिक परावर्तन परिघटना पर
  • पानी की टंकी को ऊपर से देखने पर कम गहरी दिखायी देने का कारण है – अपवर्तन
  • चटका हुआ काँच चटकीला प्रतीत होता है – पूर्ण आन्‍तरिक परावर्तन के कारण
  • मरीचिका एक उदाहरण है – प्रकाश के अपवर्तन और पूर्ण आन्‍तरिक परावर्तन का
  • इन्‍द्रधनुष कितने रंग दिखाता है – 7
  • हीरा चमकदार दिखायी देता है – सामूहिक आन्‍तरिक परावर्तन के
  • प्रकाश की किरण को पूर्ण आन्‍तरिक परावर्तन के लिए किससे गुजरना होता है – काँच से जल
  • बाह्य अं‍तरिक्ष में किसी अंतरिक्ष यात्री को आकाश दिखायी देगा – काला
  • अबिन्‍दुकता का दोष दूर करने के लिए किस लैंस का प्रयोग करना चाहिए – सिलिंडरी लैंस
  • लैम्‍पर्ट नियम किससे सम्‍बन्धित है – प्रदीप्ति
  • आवर्द्धक लैंस वास्‍तव में क्‍या होता है – उत्‍तल लैंस



Click here to download:- Most Important Physics Notes For SSC            

GK Notes PDF

General Science Notes PDF

Math Notes PDF

English Notes PDF 

Download PDF 

This post is dedicated to downloading our WEBSITE  Gktrick.in for free PDFs, which are the latest exam pattern-based pdfs for RRB JE, SSC CGL, SSC CHSL, RRB NTPC, etc. it helps in performing your all-rounder performance in the exam. Thank You

Here you can also check and follow our Facebook Page (pdf exam) and our Facebook Group. Please share, comment, and like Our posts on Facebook! Thanks to Visit our Website and keep Follow our Site to know our New Updates which are Useful for Your future Competitive Exams.

Please Support us By Joining the Below Groups And Like Our Pages We Will be very thankful to you.

Facebook Page: https://www.facebook.com/PDFexamcom-2295063970774407/

Tags :-chemistry handwritten notes for competitive exams pdf in hindi,class 12 physics handwritten notes pdf in hindi,physics handwritten notes for competitive exams pdf in english,class 11 physics handwritten notes in hindi pdf download,class 10 physics handwritten notes pdf in hindi,physics notes for upsc in hindi pdf,biology handwritten notes for competitive exams pdf in hindi,chemistry handwritten notes in hindi pdf          

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here