NCERT Hindi Book For class 6

0

NCERT Hindi Books For class 6

NCERT Hindi Book for class 6 PDF Free Download:- Hello friends welcome to our website Gktrick.in. Today our post is related to NCERT Hindi Book for class 6 topic, in this post we will provide you Link to download all types of PDF related to all topics. You will be able to download them by clicking on them, it will help you in all competitive Exams

Right now we have all the PDFs related to NCERT Hindi Book for class 6 topic, in this post we are providing you. And further, all the links related to general NCERT Hindi Book for class 6 topic will come to us, their links will also be added in this post, so request all of you to save this post in your browser’s BOOKMARK, and keep checking.

In addition to NCERT Hindi Book for class 6, PDF related posts of all other subjects are also available on our website, so keep visiting this website regularly. Please tell through the comment on which topic you need a PDF.

We also Cover Basic Topics like Maths, Geography, History, Hindi, Polity, etc and study materials including previous Year Question Papers, Current Affairs, Important Formulas, etc for upcoming Banking, UPSC, SSC CGL Exams. Our PDF will help you to upgrade your mark in any competitive exam.

NCERT Hindi Book for class 6 class book is provided here in pdf to easily get access anytime and anywhere. we are relating the NCERT History Book for class 61syllabus according to topic-wise in both Hindi and English.

DOWNLOAD MORE PDF

Maths Notes CLICK HERE
English Notes CLICK HERE
Reasoning Notes CLICK HERE
Indian Polity Notes CLICK HERE
General Knowledge CLICK HERE
General Science Notes
CLICK HERE

 

प्रश्न . क्रिया की परिभाषा देते हुए उसके प्रकार बताइए।

उत्तर- जिन शब्दों से किसी कार्य के होने, करने अथवा किसी क्रियात्मक स्थिति का बोध हो, उन्हें क्रिया कहते हैं। जैसे- खरगोश गाजर खा रहा है। यहाँ खाना क्रिया है। क्रिया दो प्रकार की होती है- (1) अकर्मक क्रिया तथा (2) सकर्मक क्रिया।

प्रश्न . अकर्मक क्रिया किसे कहते हैं?

उत्तर- जिस क्रिया का फल कर्म पर नहीं, वरन् कर्ता पर पड़ता है, उसे अकर्मक क्रिया कहते हैं। इसमें कर्म की आवश्यकता नहीं होती। जैसे- मोर नाचता है।

प्रश्न . सकर्मक क्रिया का संक्षेप में उल्लेख कीजिए।

उत्तर- जिस क्रिया का फल कर्म पड़ता है, तथा उसे सकर्मक क्रिया कहते हैं। इसमें कर्म की अनिवार्यता होती है। जैसे- रेखा ने फल खरीदे।

प्रश्न . अकर्मक क्रिया कितने प्रकार की होती है?

उत्तर- अकर्मक क्रिया दो प्रकार की होती है – (1) पूर्ण अकर्मक क्रिया, (2) अपूर्ण अकर्मक क्रिया।

प्रश्न  सकर्मक क्रिया कितने प्रकार की होती है?

उत्तर- सकर्मक क्रिया तीन प्रकार की होती है

(1) पूर्व एककर्मक क्रिया, (2) पूर्णद्विकर्मक क्रिया तथा (3) अपूर्ण सकर्मक क्रिया।

प्रश्न . समापिका क्रिया की परिभाषा कीजिए ।

उत्तर- जो क्रियाएं वाक्य के अन्त में रहकर वाक्य को समाप्त करती हैं, वे समापिक क्रियाएं कहलाती हैं। जैसे- मैं पढँगा। हिमालय की बर्फ पिघल रही है।

प्रश्न . असमापिका क्रिया किसे कहते हैं?

उत्तर- उन क्रियाओं को असमापिका क्रियाएँ कहते हैं जो वाक्य में अन्तः में प्रयुक्त न होकर कहीं अन्यत्र प्रयुक्त होती हैं। जैसे- वह खेलते हुए गिर गया।

प्रश्न . वाच्य किसे कहते हैं?

उत्तर- क्रिया के जिस रूप से उसके विषय का ज्ञान है, उसे वाच्य कहते हैं। यथा- राम लिख रहा है । इसमें लिखने का कार्य राम कर रहा है, अतः इसलिए यह वाक्य कर्तृवाच्य का उदाहरण है।

प्रश्न . वाच्य के कितने भेद होते हैं?

उत्तर- वाच्य के निम्न तीन भेद होते हैं (1) कर्तृवाच्य, (2) कर्मवाच्य तथा (3) भाव वाच्य।

प्रश्न . कर्तृवाच्य किसे कहते हैं?

उत्तर- जिस वाक्य में क्रिया का मुख्य विषय कर्ता होता है, उसे कर्तृवाच्य कहते हैं। इसमें कथन का केन्द्र कर्ता होता है। यथा- सुधीर पढ़ता है। इसमें सुधीर (कर्ता) कथन का केन्द्र है।

प्रश्न  कर्मवाच्य किसे कहते हैं?

उत्तर- जिस वाक्य में क्रिया का मुख्य विषय कर्म होता है, उसे कर्मवाच्य कहते हैं। जैसे- मोहन ने पुस्तक पढ़ी थी। इसमें पुस्तक क्रिया का मुख्य विषय है।

प्रश्न . भाववाच्य किसे कहते हैं?

उत्तर- वह वाक्य जिसमें क्रिया का मुख्य विषय कर्ता व कर्म न होकर भाव होता है, उसे भाव वाच्य कहते हैं। यथा- अब मुझसे सहा नहीं जाता। इसे क्रिया का केन्द्र भाव है।

प्रश्न . ‘अव्यय’ की परिभाषा दीजिए।

उत्तर- जिन शब्दों के स्वरूप में लिंग, वचन पुरुष या काल के कारण कोई बदलाव नहीं आता, उन्हें ‘अव्यय कहते हैं। इन्हें अविकारी शब्द भी कहा जाता है।

प्रश्न . अव्यय के कितने प्रकार होते हैं?

उत्तर- अव्यय के निम्न पाँच प्रकार होते हैं (1) क्रिया-विशेषण, (2) सम्बन्ध बोधक, (3) समुच्चय बोधक, (4) विस्मयदि बोधक एवं (5) निपात। प्रश्न

प्रश्न . क्रिया-विशेषण किसे कहते हैं?

उत्तर- जो अविकारी शब्द क्रिया की विशेषणा बताते हैं, उन्हें क्रिया-विशेषण कहते हैं। जैसे-धीरे- जल्दी, यहाँ आदि।

प्रश्न . सम्बंध बोधक अव्यय किसे कहते हैं?

 उत्तर- वे अव्यय जो संज्ञा या सर्वनाम के साथ जुड़कर उनका सम्बन्ध वाक्य के दूसरे शब्दों से स्थापित करते हैं, उन्हें सम्बन्ध बोधक अव्यय कहते हैं। यथा- मेरे घर के आगे एक अस्पताल है । इसमें ‘आगे’ सम्बन्धबोधक अव्यय है।

प्रश्न . समुच्चय बोधक अव्यय से आप क्या समझते हैं? स्पष्ट कीजिए।

उत्तर- समुच्चयबोधक अव्यय का तात्पर्य उन शब्दों से है जो दो शब्दों, वाक्यांशों या वाक्यों को परस्पर मिलाते हैं। इन्हें योजक भी कहा जाता है। जैसे- और, एवं, तथा आदि।

प्रश्न. विस्मयादिबोधक अव्यय किसे कहते हैं?

उत्तर- विस्मयादिबोधक अव्यय उन शब्दों को कहते हैं जो विस्मय, हर्ष, शोक, घृणा तथा उत्साह आदि मनोभावों को व्यक्त करते हैं। जैसे- अहा, शाबास, हाय, उफ, अरे आदि।

प्रश्न . ‘निपत’ किसे कहते हैं?

उत्तर- जो अव्यय किसी शब्द या पद के साथ जुड़कर उससे अर्थ में एक विशेष प्रकार का बल प्रदान करते हैं, उन्हें निपात कहते हैं। यथा- क्या, काश, सिर्फ आदि।

प्रश्न . निपात का प्रयोग किन कार्यों में किया जाता है?

उत्तर- निपात का प्रयोग निम्न कार्यों में किया जाता है (1) प्रश्न करने में, (2) अस्वीकृति प्रकट करने में, ( 3 ) किसी शब्द पर बल देने के लिए तथा (4) विस्मय प्रकट करने हेतु ।

प्रश्न . हिन्दी व्याकरण के आधार पर किसी पदों के नाम बताइए

उत्तर- हिन्दी व्याकरण के आधार पर किसी वाक्य में चार प्रकार के विकारी पदों का प्रयोग किया जाता है। इनके नाम है- संज्ञा, सर्वनाम, क्रिया व विशेषण।

प्रश्न . वाक्य की परिभाषा दीजिए एवं उसके भेदों के नामोल्लेख कीजिए।

उत्तर- भाषा की वह लघुतम इकाई जो किसी भाव या विचार को पूर्णतः व्यक्त कर सकती है, वाक्य कहलाती है।

अर्थ की दृष्टि से वाक्य के निम्न आठ भेद बताए गए हैं कथनात्मक, नकारात्मक, आज्ञार्थक, प्रश्नवाचक, इच्छावाचक संदेहवाचक, विस्मयदिबोधक तथा संकेतवाचक इसी प्रकार रचना की दृष्टि से वाक्य के तीन भेद हैं- सरल वाक्य, संयुक्त वाक्य तथा मिश्र वाक्य।

प्रश्न. वाक्य-विश्लेषण से क्या आशय है?

उत्तर- वाक्य-विश्लेषण का आशय है- वाक्य के विभिन्न अंगों का यथासम्भव विभाजन करके उनके पारस्परिक सम्बन्धों का विवेचन करना । इसे वाक्य विग्रह भी कहा जाता है।

NCERT Hindi Book for Class 6 Chapter wise PDF:-

NCERT Book Class 6 Hindi Vasant

Chapter 1 वह चिड़िया जो
Chapter 2 बचपन
Chapter 3 नादान दोस्त
Chapter 4 चंडी से थोड़ी – सी गप्पें
Chapter 5 अक्षरों का महत्व
Chapter 6 पार नज़र के
Chapter 7 साथी हाथ बढ़ाना
Chapter 8 ऐसे – ऐसे
Chapter 9 टिकट – अलबम
Chapter 10 झाँसी की रानी




NCERT Book Class 6 Hindi Durva

Chapter 1 कलम
Chapter 2 किताब
Chapter 3 घर
Chapter 4 पतंग
Chapter 5 भालू
Chapter 6 झरना
Chapter 7 धनुष
Chapter 8 रुमाल
Chapter 9 कक्षा
Chapter 10 गुब्बारा
Chapter 11 पर्वत
Chapter 12 हमारा घर
Chapter 13 कपड़े की दुकान में
Chapter 14 फूल
Chapter 15 बातचीत
Chapter 16 शिलांग से फ़ोन
Chapter 17 तितली
Chapter 18 ईश्वरचंद्र विद्यासागर
Chapter 19 प्रदर्शनी
Chapter 20 चिट्ठी
Chapter 21 अंगुलिमाल
Chapter 22 यात्रा की तैयारी
Chapter 23 हाथी
Chapter 24 डॉक्टर
Chapter 25 जयपुर से पत्र
Chapter 26 बढ़े चलो
Chapter 27 व्यर्थ की शंका
Chapter 28 गधा और सियार




NCERT Book Class 6 Hindi Ram Bal Katha

Chapter 1 अवधपुरी में राम
Chapter 2 जंगल और जनकपुर
Chapter 3 दो वरदान
Chapter 4 राम का वन – गमन
Chapter 5 चित्रकूट में भरत
Chapter 6 दंडक वन में दस वर्ष
Chapter 7 सोने का हिरण
Chapter 8 सीता की खोज
Chapter 9 राम और सुग्रीव
Chapter 10 लंका में हनुमान
Chapter 11 लंका विजय
Chapter 12 राम का राज्याभिषेक

General Science Notes PDF

Math Notes PDF

English Notes PDF 

This post is dedicated to downloading our WEBSITE  Gktrick.in for free PDFs, which are the latest exam pattern-based pdfs for RRB JE, SSC CGL, SSC CHSL, RRB NTPC, etc. it helps in performing your all-rounder performance in the exam. Thank You

Here you can also check and follow our Facebook Page (pdf exam) and our Facebook Group. Please share, comment, and like Our posts on Facebook! Thanks to Visit our Website and keep Follow our Site to know our New Updates which are Useful for Your future Competitive Exams.

Please Support us By Joining the Below Groups And Like Our Pages We Will be very thankful to you.

Facebook Page: https://www.facebook.com/PDFexamcom-2295063970774407/

Tags :-class 6 hindi book pdf,ncert books class 6,ncert class 6 hindi chapter 1 pdf,6th hindi book pdf,ncert class 6 hindi chapter 5 pdf,cbse class 6 hindi guide pdf,ncert class 6 hindi chapter 6 pdf,cbse books for class 6

Leave A Reply

Your email address will not be published.